सरदार पटेल की 143 वीं जयंती पर मोदी ने किया स्टैच्यू ऑफ यूनिटी का अनावरण

0
21

भारत का बिस्मार्क और लौह पुरूष कहे जाने वाले देश के पहले उप-प्रधानमंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल के जन्मदिन के अवसर में आज देश के पीएम मोदी ने गुजरात में पटेल की 182 मीटर की लौह प्रतिमा का अनावरण करके याद किया. जिसे स्टैच्यू ऑफ यूनिटी  (Statue of Unity) के नाम से जाना जाएगा.

इस प्रतिमा को अब तक विश्व की सबसे बड़ी मूर्ति का दर्जा दिया गया है, पटेल की इस मूर्ति के अनावरण के लिए गुजरात के राज्यपाल ओपी कोहली, मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, गृह राज्यमंत्री प्रदीप सिंह जडेजा और मुख्य सचिव जे एन सिंह समेत सभी वरिष्ठ गण मौजूद है.

इस प्रतिमा को  नर्मदा जिले के सरदार सरोवर बांध के पास केवडिया कॉलोनी के पास बनाया गया है. बता दें कि विश्व में अब तक  चीन में स्थित स्प्रिंग टेंपल की 153 मीटर ऊंची बुद्ध की प्रतिमा को सबसे ऊंची मूर्ति होने का रिकॉर्ड था. मगर सरदार वल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा ने अब चीन में स्थापित इस मूर्ति को दूसरे स्थान पर छोड़ दिया है. 182 मीटर ऊंचे ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ का आकार न्यूयॉर्क के 93 मीटर उंचे ‘स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी’ से दोगुना है.

प्रतिमा के उद्घाटन समारोह में आए नेताओं और अन्य गणमान्य हस्तियों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि देश को यह घरोहर देने के लिए देश हमेशा याद करेगा .देश के मौलिक अधिकार उन्हीं से है व इसके अलावा सरदार पटेल के जन्मदिन पर गुजरात से कन्याकुमारी तक एक स्पेशल ट्रैन सेवा चलाने की बात कहीं है.