69 साल का मुद्दा, 3 मिनट की सुनवाई में टला 3 महीने के लिए

0
37

69 साल से लटके राम जन्म भूमि के विवाद पर आज सुप्रीम कोर्ट पर सबकी नजर थी, क्योंकि सर्वोंच्च न्यायालय   में आज  2010 में किए इलाहाबाद हाई कोर्ट के फैसले पर सुनवाई होनी थी ,जिसे लेकर आज सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई को अगले साल जनवरी तक टाल दिया है.

बता दें कि 69 साल से लटके इस विवादित फैसले को सुप्रीम कोर्ट ने 3 मिनट की सुनवाई कर अगले साल तक के लिए टाल दिया है, चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अगुवाई वाली बेंच ने अब इस मामले के लिए जनवरी, 2019 की तारीख तय की है. यानी अब ये मामला करीब 3 महीने बाद ही कोर्ट में उठेगा.

बता दें कि सोमवार की सुनवाई चीफ जस्टिस रंजन गोगोई समेत जस्टिस संजय किशन कौल और जस्टिस के. एम जोसफ की पीठ ने की. इन्होंने इस राष्ट्रीय और धार्मिक विवादित फैसले को फौरी तौर पर लेने से मना करते हुए सुनवाई को 3 महीने के लिए फिर से टाल दिया है, जिसके बाद अब देखना यह है कि क्या तीन महीने के बाद यह फैसला आ पाएगा कि किसकी होगी अयोध्या ?